Minority Scholarship के लिए आवेदन 30 नवंबर 2022 तक भरे जायेंगे |


Minority Scholarship के लिए आवेदन प्रक्रिया 30 नवंबर 2022 तक भरे जायेंगे, Minority Scholarship 2022- अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति के लिए आवेदन की प्रक्रिया हुई शुरू, आवेदन की अंतिम तिथि 30 नवंबर 2022 निर्धारित की गई है, चलिए इस पोस्ट के जरिए Minority Scholarship 2022 से सम्बन्धित पूरी जानकारी विस्तार जानते हैं l

देशभर के विभिन्न राज्यों मे अल्पसंख्यकों की छात्रवृत्ति के लिए अलग-अलग कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। जिसमें प्रमुख रुप से मुस्लिम, जैन, सिख, ईसाई,बौद्ध, पारसी जैसे समुदायों को छात्रवृत्ति का लाभ मिलता है। Session 2022–23 के लिए Minority Scholarship के लिए आवेदन की शुरुआत हो चुकी है। जिसके लिए आवेदन की अंतिम तिथि 30 नवंबर 2022 निर्धारित की गई है।

सभी इच्छुक एवं योग्य उम्मीदवार Minority Scholarship के लिए आवेदन कर सकते हैं। जो भी उम्मीदवार अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति का लाभ लेना चाहते हैं, तो इस पोस्ट के माध्यम से पूरी जानकारी प्राप्त करने के पश्चात Minority Scholarship के लिए आवेदन कर सकते हैं । चलिए इस पोस्ट के माध्यम से अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति से संबंधित संपूर्ण जानकारी विस्तार से जान लेते हैं ।

शिक्षण संस्थानों द्वारा ही करवाया जाएगा अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति के लिए आवेदन।

उम्मीदवारों की जानकारी के लिए बता दें कि पोस्ट मैट्रिक तथा मैट्रिक कम मींस छात्रवृत्ति योजना में आवेदन अपने स्कूल या शिक्षण संस्थान से ही करना होगा। जिसमें आपका Educational Institutions ऑनलाइन NSP Portal के जरिए छात्रों का आवेदन करेगा।

Govt Job Update & Exam Notes के लिए फॉर्म भरे

Minority Scholarship

लेकिन इसके लिए छात्रों को अपने स्कूल से Application Form लेना होगा। आवेदन फॉर्म को अच्छी तरह भरकर तथा उसके साथ जरूरी डाक्यूमेंट्स को लगाना होगा। जिसके बाद पूरी तरह भरे गए Form को अपने स्कूल या शिक्षण संस्थान में जमा करना होगा।

PM Yashasvi Scholarship Yojana 2022

LIC Saral Pension Yojana 

सरकारी योजना 2022

PM Kisan Samman Nidhi Yojana List 2022

विभिन्न शिक्षण संस्थान 30 नवंबर तक आपके आवेदन पत्र Online रुप से भर पाएंगे। जिसके बाद इन शिक्षण संस्थानों द्वारा आपके आवेदन पत्रों की जांच करने के बाद आगे की प्रक्रिया के लिए 15 दिसंबर तक भेजना होगा।

समस्त राजकीय एवं गैर राजकीय शैक्षणिक संस्थानों को कराना होगा केवाईसी।

  • बता दें कि Alpsankhyak Scholarship का लाभ तभी दिया जाएगा, जब उस शिक्षण संस्थान का KYC Update होगा। क्योंकि यह प्रक्रिया ऑनलाइन रुप से की जा रही है। इसलिए राजकीय तथा गैर राजकीय शिक्षण संस्थानों को अपने स्तर पर NSP Portal के जरिए अपना KYC करवाना जरूरी है।
  • साथ ही जिन शिक्षण संस्थानों का केवाईसी हो रखा है, उनको अपना केवाईसी अपडेट करवाना होगा। केवाईसी अपडेट कराने के संबंध में शिक्षण संस्थान को NSP Portal पर मुखिया एवं प्रभारी का नाम, Aadhar Card Number, जन्म दिनांक तथा आधार कार्ड से जुड़ा मोबाइल नंबर Update करना होगा।
  • अगर यह सब जानकारी संबंधित शिक्षण संस्थान द्वारा दी जाती है, तो उस Educational Institution में अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति का कार्यक्रम कराया जा सकता है।
  • लेकिन जिन शिक्षण संस्थानों में Online Update का कार्य पूरा नहीं होगा, तो ऐसे शिक्षण संस्थान अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति कार्यक्रम में भाग नहीं ले पाएंगे। ऐसे में पूरी जिम्मेदारी उस शिक्षण संस्थान के प्रबंधक की होगी।

आखिर क्या है? पोस्ट मैट्रिक तथा मैट्रिक कम मींस छात्रवृत्ति योजना।

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि राज्य सरकार द्वारा Post Matric तथा Merit Come Means Scholarship गरीब Minority Students के लिए चलाई गई है ताकि मेधावी छात्रों की किसी भी तरह से पढ़ाई ना रुके। क्योंकि गरीब मेधावी छात्रों का परिवार इतना सक्षम नहीं होता है, कि उनकी पढ़ाई की फीस भी दे सकें। इसलिए राज्य सरकार ऐसे मेधावी गरीब छात्रों की मदद के लिए ही अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति Scheme लाई है।

कौन-कौन छात्र अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति के लिए होंगे योग्य।

राज्य में Alpsankhyak Scholarship Yojana के लिए उम्मीदवारों को निर्धारित की गई पात्रता को पूरा करना होगा। जिसके बाद ही वह इस Yojana में भाग ले सकते हैं।

  • आवेदन करने वाला छात्र मुख्य रूप से मुस्लिम, ईसाई,सिख, बौद्ध, पारसी, जैन इत्यादि समुदाय से होना चाहिए।
  • उम्मीदवार के द्वारा एक से दसवीं कक्षा तक या फिर उससे ऊपर Education की जा रही हो।
  •  इस योजना में आवेदन करने वाला छात्र के अपनी पिछली कक्षा में कम से कम 50% अंक जरूर होने चाहिए।
  •  आवेदन करने वाले छात्र के परिवार की Annual Income ₹100000 से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  •  अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति योजना के अनुसार एक परिवार से केवल दो छात्रों को ही इस योजना का लाभ दिया जा सकता है।
  •  हालांकि इस छात्रवृत्ति योजना में लगभग 30% सीटें छात्राओं के लिए Reserved की गई हैं।

राज्य सरकार द्वारा तीन तरह की चलाई जाती है अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति योजनाएं।

राज्य सरकार द्वारा अल्पसंख्यक छात्रों के लिए तीन प्रकार की Scholarship Scheme चलाई जाती हैं। जिनमें Pre Matric Scholarship Scheme, पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना, मेरिट कम मींस छात्रवृत्ति योजना। यह सारी छात्रवृत्ति योजनाएं क्या है, और किस लिए चलाई जाती हैं, आइए जानते हैं।

  • प्री मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना : यह छात्रवृत्ति योजना अल्पसंख्यक छात्रों के लिए पहली से लेकर 10th class तक चलाई जाती है। यानी जो भी उम्मीदवार पहली से लेकर दसवीं क्लास में पढ़ते हैं, वह इस योजना का लाभ ले सकते हैं।
  •  पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना : इस योजना का लाभ लेने के लिए Minorities Students को 11वीं से लेकर पीएचडी तक के कोर्स में होना अनिवार्य है। अगर आवेदक छात्र ग्यारहवीं के बाद कोई भी पढ़ाई करना चाहता है, तो इस अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति योजना का लाभ ले सकता है।
  •  मेरिट कम मींस छात्रवृत्ति योजना : इस छात्रवृत्ति योजना में आवेदन करने वाला उम्मीदवार Graduation या पोस्ट ग्रेजुएशन करना चाह रहा है, जोकि व्यवसायिक एवं तकनीकी पाठ्यक्रम से संबंधित है। तो वह इस अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति  योजना का Benefits ले सकता है।

इस प्रकार राजस्थान राज्य के मेधावी अल्पसंख्यक छात्र अपनी Eligibility अनुसार ऊपर दी गई किसी भी छात्रवृत्ति योजना में भाग ले सकते हैं, जिसके लिए उनको आवेदन अपने Schools या फिर शिक्षण संस्थान से करना होगा।

Scroll to Top